इटावा लाइव के समस्त पाठकों का इटावा लाइव परिवार हार्दिक स्वागत करता है।

एकलव्य स्टडी सर्किल ,मुख्य शाखा, प्रथम तल सियाराम मार्केट,भर्थना चौराहा ,इटावा , संपर्क सूत्र -9456629911,8449200060  | रिनेसाँ एकेडेमी,विकास कॉलोनी भाग-2 , कानपुर रोड, पक्का बाग, इटावा फोन नंबर -9456800140  | गरुकुल कंप्यूटर एजुकेशन एंड मैनेजमेंट ,इंफ्रोन्ट ऑफ़ रामलीला रोड ,गोविन्द नगर इटावा डायरेक्टर मोहम्मद शहीद अख्तर ,संपर्क सूत्र-9412190565  | रॉयल ऑक्सफ़ोर्ड इंटरनेशनल सीनियर सेकेण्डरी स्कूल एडमिशन ओपन क्लास पी.जी. से ट्वेल्थ पता रामलीला रोड इटावा ,संपर्क सूत्र-9927176666,9917166666  | सेंट मारिया स्कूल ,एडमिशन ओपन ,प्ले से इलेवेंथ ,पता बम्ब रोड ,पास लोहिया गैस गोदाम नयी मंडी इटावा,संपर्क सूत्र -८७५५५१९२१६,८७५५५१९२०४.  | ए-वन कम्पटीशन जोन फ्रेंड्स कॉलोनी भरथना चौराहा इटावा डायरेक्टर देवेंद्र सूर्यवंशी I  | विज्ञापन व समाचार प्रकाशन हेतु सम्पर्क करें- आशुतोष दुबे (संपादक) मो0- 9411871956 | e-mail :-newsashutosh10@gmail.com   | भरथना तहसील क्षेत्र अन्तर्गत समाचार प्रकाशन हेतु सम्पर्क करें- तनुज श्रीवास्तव (तहसील प्रतिनिधि) मो0- 9720063658  | 
आपकी बात

बाबा साहब डा0 भीमराव अम्बेडकर के मिशन

Desk

इटावा। बाबा साहब डा0 भीमराव अम्बेडकर के मिशन और रुके हुय कारवां को आगे बढ़ाने का काम बसपा संस्थापक मान्यवर कांशीराम जी ने किया। उनके इस नारे ‘वोट हमारा राजा तुम्हारा नहीं चलेगा, 85 पर 15 प्रतिशत का शासन नहीं रहेगा’ के नारे ने देश के दलित, पिछड़ों व मुस्लिम समाज के साथ सर्वहारा वर्ग में अधिकारों की भूख जगाने का काम किया।यह विचार कौमी तहफ्फुज कमेटी के संयोजक श्री खादिम अब्बास ने स्थानीय मुहल्ला कबीर गंज में बसपा संस्थापक मा0 कांशीराम के परिनिर्वाण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये। खादिम ने कहा कि कांशीराम की कथनी और करनी में कोई अन्तर नहीं था। वह किंग मेकर थे, उन्होंने सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव व उसके बाद सुश्री मायावती को उ0प्र0 का मुख्यमन्त्री बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। कांशीराम क्राइम और करेप्शन के सख़्त विरोधी थे। वह कहते थे कि देश का सबसे बड़ा शत्रु अराजकता, अपराध, भ्रष्टाचार व साम्प्रदायिकता है। इस घातक बुराई और बीमारी से बहुजन समाज को सचेत रहना चाहिये। कांशीराम कहते थे कि इन्सानी भाईचारे के बिना देश तरक्की नहीं कर सकता। जो लोग अपनी निजी स्वार्थाें की पूर्ति के लिये धर्मान्धता, साम्प्रदायिकता व जातिवादी जहर घोलते हैं, वह देश व समाज के हितैषी नहीं हो सकते। कांशीराम फक्कड़ स्वाभाव के संत पुरुष थे। इस लिये उन्होंने धर्म मजहब और जातिवाद की राजनीति को ध्वस्त करने के लिये नारा दिया था कि जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी। वह कहते थे कि सबको समान अधिकार मिल जाये, तो असमानता और गरीबी का अपने आप अंत हो जायेगा। उन्होंने कहा था कि इसी गलत सोच और नीतियों के कारण गरीबी और अमीरी की खाई चौड़ी होती जा रही है। कांशीराम उर्दू और फारसी भाषा विद्वान थे। वह अपना सारा निजी काम उर्दू भाषा में किया करते थे। साम्प्रदायिक सौहार्द का उदाहरण पेश करते हुये कांशीराम अपने भाषण का अन्त इस शब्द के साथ करते थे कि मैं अब आपसे रजा चाहता हूं, जय भीम, जय भारत, खुदा हाफिज। कांशीराम की इस अनूठी शैली का अनुसरण आज भी बसपाई मिशनरी करते हैं।खादिम अब्बास ने कहा कि कांशीराम की महानता इसी बात से मालूम होती है कि उन्होंने संकल्प लिया था कि मैं न तो शादी करूंगा। न तो कोई चल अचल सम्पत्ति बनाऊंगा। न कोई धन संचय करके बैंक बैलेंस करूंगा। जब कांशीराम ने आखिरी सांस ली, तब उनके पास एक पुरानी अटैची के अलावा कुछ नहीं निकला। अटैची में सिर्फ उनके पहनने वाले चार जोड़े कपड़े व तीन पुस्तकों के अलावा कुछ भी नहीं निकला। वह बहुजन समाज को ही अपना परिवार मानते थे।डा0 राजेश कुमार ने कहा कि सामाजिक परिवर्तन, भाईचारा बनाओ रैली व आरक्षण कोटा पूरा करो की मुहिम चलाकर मा0 कांशीराम ने दलित शोषित समाज के मान सम्मान और अधिकार दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इंजीनियर राकेश दोहरे ने कहा कि डा0 अम्बेडकर के विचार और दर्शन को धरातल पर उतारने का काम मा0 कांशीराम ने किया। उन्होंने सद्भावना समिति के अध्यक्ष देवेन्द्र यादव का उल्लेख करते हुये कहा कि उन्होंने कांशीराम के आवाहन पर लगभग पचास हजार किलोमीटर साइकिल यात्रा इन्सानी भाईचारा के लिये देश भर में चला डाली।मास्टर कन्हैया ने कहा कि कांशीराम उच्च कोटि के विद्वान थे, उनका बहुत ही सरल स्वाभाव था। उनसे जो भी मिलता था, वह बसपा का झण्डा थाम लेता था।परिनिर्माण कार्यक्रम में दिनेश शाक्य, जगत सिंह, कोमल सिंह लोधी, मनोज कश्यप, सुरेन्द्र बाथम, बिनय दोहरे ने भी अपने विचार व्यक्त किये। अध्यक्षता असलम अन्सारी ने की तथा संचालन महेन्द्र ने किया।

Report :- Desk
Posted Date :- 12-10-2015
आपकी बात
Video Gallery
Photo Gallery

Portal Owned, Maintained and Updated by : Etawah Live Team || Designed, Developed and Hosted by : http://portals.news/