नौकरी सिर्फ आय का स्त्रोत ही नहीं, बल्कि सेवा का माध्यम भी है- गजराज सिंह यादव (तहसीलदार)

भरथना (रिपोर्ट- तनुज श्रीवास्तव)- व्यक्ति को अपने सेवाकाल के दौरान उच्चाधिकारियों समेत अधीनस्थों के साथ ऐसा व्यवहार करना चाहिये। जिससे सेवानिवृत्ति के उपरान्त भी उसके कार्यों व सदाचार व्यवहार का सदैव स्मरण किया जा सके। नौकरी सिर्फ आय का स्त्रोत ही नहीं, बल्कि यह एक ऐसा माध्यम है, जिसके द्वारा हमें जरूरतमन्दों, दीन-दुखियों की सेवा करने का अवसर मिलता है। इसलिए इसके प्रत्येक कार्य को अपना नैतिक कर्तव्य समझकर निर्वाहन करना चाहिये।
उक्त बात स्थानीय तहसील सभागार में राजस्व निरीक्षक सूरज प्रसाद यादव द्वारा अधिवर्षता आयु पूर्ण करने के उपरान्त सेवानिवृत्ति पर आयोजित विदाई व सम्मान समारोह के दौरान बतौर मुख्य अतिथि तहसीलदार गजराज सिंह यादव ने उपस्थित कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पदीय दायित्वों को बखूबी निभाना एक अच्छे कार्यकुशल अधिकारी व कर्मचारी की पहचान है। साथ ही मुख्य अतिथि श्री यादव ने सेवानिवृत्त राजस्व निरीक्षक सूरज प्रसाद यादव को माल्यार्पण, अंगवस्त्र व प्रतीक चिन्ह्र, रामचरित्र मानस की पुस्तक भेंटकर सम्मानित करते हुए उनके सरल व्यक्तित्व की भूरि-भूरि प्रशंसा की और उनके देयकों की चैक भी उन्हें प्रदान की। वहीं उपस्थित अन्य राजस्व कर्मियों व प्रधानों ने भी सेवानिवृत्त श्री यादव को प्रतीक चिन्ह्र भेंटकर सम्मानित किया। इस अवसर पर एलआरसी वीरेन्द्र प्रजापति, रजिस्टार कानूनगो वीरेन्द्र सिंह यादव, लेखपाल संघ जिलाध्यक्ष राजेश यादव, सदर लेखपाल गौरव श्रीवास्तव, रोहित यादव, प्रियांशू श्रीवास्तव, मण्टू मिश्रा, प्रधान प्रतिनिधि सहदेव सिंह यादव, विजय कुमार, अवधेश कुमार बौद्ध, अजीत सिंह सहित समस्त राजस्व कर्मियों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। फोटो- सेवानिवृत्त रा0नि0 को विदाई व सम्मान उपरान्त देयक भेंट करते तहसीलदार गजराज सिंह यादव।

मेरी कोशिश रहती है कि भरथना की कोई भी खबर छूटने न पाये। मेरे इस प्रयास में कृपया आप भी सहयोग करें। मेरी ईमेल srivastavatanuj06@gmail.com पर आप ख़बरें व सुझाव भेज सकते हैं। मेरा मोबाइल नम्बर 9720063658, 7037258235 है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *