विदाई की बेला आते ही गजानन भक्तों की छलकी पीडा

भरथना (रिपोर्ट- तनुज श्रीवास्तव)- विदाई की बेला आते ही गजानन भक्तों की पीडा छलकने लगी है। हर्षोल्लास के साथ शुरू हुए भव्य व ऐतिहासिक गणपत के महोत्सव की भक्तों ने जमकर खुशियाँ मनायी। धीरे-धीरे महोत्सव का अन्तिम रूप आते देख महाराज गजानन को विदाई देने के लिए भक्तों की आँखें नम होती जा रही हैं।
श्री गणेश महोत्सव युवा समिति (रजि0) भरथना के तत्वाधान में बीते 10 दिनों से चल रहे 10वें भव्य व ऐतिहासिक श्रीगणेश चतुर्थी महोत्सव में महाराज गजानन के विभिन्न स्वरूपों की झाँकियों के दर्शन, पूजन अर्चन के लिए भक्तों का जनसैलाब उमडने लगा है। भक्तों की खुशियों के साथ आकर्षक साज-सज्जा वाले विशालकाय प्रांगण में शुरू हुए विघ्नहर्ता के उत्सव के समापन होने व गजानन को विदाई देने की बेला आते ही श्रीगणेश के भक्तों की पीडा छलकने लगी है। वहीं आचार्य पं0 शीतल प्रसाद अवस्थी व श्रीकृष्ण अवस्थी (बण्टी) द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच सम्पन्न कराये गये पूजन अर्चन के उपरान्त संगीतमयी ध्वनियों में होने वाली पंच आरतियों में तालियों की गडगडाहट के साथ भक्तों ने अपने आराध्य का जमकर गुणगान किया और गणपत बप्पा मोरया के गगनभेदी उद्घोषों से समूचा पाण्डाल गुंजायमान कर सर्वकल्याण की कामना की। साथ ही रात्रि में काली नृत्य, भोले तांडव, वीर हनुमान, माँ दुर्गा की सजीव झाँकियों के दर्शन व उनके नृत्य ने उपस्थित श्रद्धालु महिला-पुरूष भक्तजनों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर अध्यक्ष मोहित यादव बाॅबी, महामंत्री अजय तोमर, कोषाध्यक्ष प्रेम वर्मा, पवन यादव, सीटू गुप्ता, नेक्से पोरवाल, नीरज वर्मा, पम्मी यादव, बबलू सविता, राजू माहेश्वरी, छुनछुन कौशल, सभासद अंशू वर्मा, मनोज राठौर, रितिक पोरवाल, सोनू कौशल, सौरभ वर्मा सहित समस्त समिति पदाधिकारियों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

मेरी कोशिश रहती है कि भरथना की कोई भी खबर छूटने न पाये। मेरे इस प्रयास में कृपया आप भी सहयोग करें। मेरी ईमेल srivastavatanuj06@gmail.com पर आप ख़बरें व सुझाव भेज सकते हैं। मेरा मोबाइल नम्बर 9720063658, 7037258235 है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *