किसान सभा के नेताओं ने परगनाधिकारी को सौंपा ज्ञापन

भरथना (रिपोर्ट- तनुज श्रीवास्तव)- धान क्रय केन्द्रों के लगातार बन्द रहने, उन पर मानक के बाद भी खरीद न होने तथा खुले बाजार में हो रही धान की लूट पर उ0प्र0 किसान सभा ने गहरा गुस्सा व्यक्त करते हुए परगनाधिकारी भरथना नन्दप्रकाश मौर्य को ज्ञापन देकर धान उत्पादक किसानों को लूट से मुक्ति दिलाकर उन्हें सरकार द्वारा घोषित मूल्य 1750 रू0 प्रति कुन्तल दिलाने की माँग की है।

किसान सभा के प्रान्तीय परिषद के सदस्य का0 रामप्रकाश पोरवाल तथा जिला कार्यकारिणी सदस्य अनिल दीक्षित ने मण्डी समिति में स्थित सरकारी क्रय केन्द्रों को निरीक्षण में बन्द पाया। साथ ही मण्डी में खुले बाजार में धान 1461 रू0 प्रति कुन्तल अधिकतम बिक रहा था, जोकि सरकारी रेट से 300 रू0 कम है। साथ ही पी 10 धान 4000 रू0 के बजाये 2900 रू0 प्रति कुन्तल व 1509 धान 2800 रू0 प्रति कुन्तल बिक रहा था।
किसान नेताओं ने परगनाधिकारी को पूरी बात बताते हुए माँग की है कि सरकारी खरीद केन्द्रों को लगातार खोला जाये व उन पर आने वाले पूरे धान की खरीद की जाये। इसी के साथ नेताद्वय ने खुले बाजार में 1750 रू0 प्रति कुन्तल का रेट दिलवाने की माँग की। साथ ही महीन पी 10, 1509, सुगन्धा आदि धानों का मूल्य कम से कम 4000 रू0 प्रति कुन्तल दिलवाने की भी माँग की। किसान नेताओं ने किसान को पक्का पर्चा 6 आर न दिये जाने से उसे तमाम सरकारी योजनाओं से वंचित करने की साजिश पर नाराजगी व्यक्त करते हुए किसान को 6 आर व मण्डी से मिलने वाला कूपन देने की भी माँग की। माँग पत्र देने वालों में उक्त नेताओं के अलावा दुर्गविजय शाक्य, शिवराम सिंह, आपेन्द्र कुमार, इन्द्रेश बाबू, सुरेश सिंह आदि शामिल रहे।

मेरी कोशिश रहती है कि भरथना की कोई भी खबर छूटने न पाये। मेरे इस प्रयास में कृपया आप भी सहयोग करें। मेरी ईमेल srivastavatanuj06@gmail.com पर आप ख़बरें व सुझाव भेज सकते हैं। मेरा मोबाइल नम्बर 9720063658, 7037258235 है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *